Category: Self Awareness

प्रदूषित पर्यावरण का प्रतिफल भोगने लगी है पृथ्वी 0

प्रदूषित पर्यावरण का प्रतिफल भोगने लगी है पृथ्वी

 प्रदूषित पर्यावरण का प्रतिफल भोगने लगी है पृथ्वी- धरती जल रही है, समुद्र, नदियां, झीलें, तालाब, प्रदूषित हो चुके हैं. जंगल रेगिस्तान में तब्दील हो रहे हैं, जंगलों के पशु-पक्षी ख़त्म हो रहे हैं....

तकनीकी उन्नति एक वरदान या समाज के लिए खतरा 1

तकनीकी उन्नति एक वरदान या समाज के लिए खतरा

( तकनीकी जीवन ) आज हम लोग तकनीक के जरिये यह समूची सभ्यता एकाएक सौकड़ों साल आगे पहुँच गए हैं. और आज पूरी दुनियां इसकी आश्रित हो गयी है, यह तकनीक ही अब हमारा...

नारी अबला नहीं सबला है Hindi essay on Nari 0

नारी अबला नहीं सबला है Hindi essay on Nari

नारी अबला नहीं सबला है- सदियों से जीवन के हर दौर में समाज की हर गतिविधि में स्त्रियों का बहुत महत्वपूर्ण योगदान रहा है, और आज के प्रतिस्पर्धा युग में महिलाओं का पुरुषों के...

21वीं सदी की ये कैसी तस्वीर? औरतें किसी भी देश, समाज, धर्म में सुरक्षित नही हैं 0

21वीं सदी की ये कैसी तस्वीर? औरतें किसी भी देश, समाज, धर्म में सुरक्षित नही हैं

 यह कैसी 21वीं सदी है –  दुनियां तनाव, युद्धों के बादलों, तेज होती सेनाओं, हजारों विपदाओं को झेल रही है, और सबका कारण कुदरत नही बल्कि हम इंसानो की खोती इंसानियत है। ऐसे में...

कैसे जियें डिज़ाइनर ज़िन्दगी ? 0

कैसे जियें डिज़ाइनर ज़िन्दगी ?

दोस्तों…. यदि चेहरा, फिगर, कपड़े डिज़ाइनर हो सकते हैं तो ज़िन्दगी क्यों नहीं ? सुनने में अटपटा जरूर लग रहा होगा , लेकिन आजमाकर देखेंगे तो पाएंगे की हम अपनी ज़िन्दगी आसानी से डिज़ाइन...

अगर आप भी खाते है मृत्यु भोज तो अगली बार खाने से पहले जरूर जान लें ये बातें 0

अगर आप भी खाते है मृत्यु भोज तो अगली बार खाने से पहले जरूर जान लें ये बातें

मृत्यु भोज का लुत्फ उठाने वालो…जो आप सजधज कर जीमण जीमने जाते हो ना.. तुम्हारे उसी*एक समय के जीमण की कीमत*आप तो मज़े से जीमण खा रहे होते हो.. लेकिन कभी उस विधवा औरत...

जाने !! 7 कारण भारत में कुपोषण होने का 0

जाने !! 7 कारण भारत में कुपोषण होने का

      कुपोषण और अस्वस्थता कुपोषण का अर्थ है व्यक्ति को उचित मात्रा में भोजन नही मिल पाना अथवा उसके आहार में किसी पोषक तत्व की कमी होना ,जिसके कारण उसके स्वास्थ्य में गिरावट आ...

क्या ईश्वर या खुदा बहरा है ? 0

क्या ईश्वर या खुदा बहरा है ?

क्या बहरा हुआ खुदा ? १५ वी शताब्दी में हमारे देश के महान संत कबीर ने अपने एक दोहे के माध्यम से एक महत्वपूर्ण प्रश्न “क्या ईश्वर बहरा है ?” पूछते हुए जन साधारण...