Category: Hindi-Urdu Poetry

0

इंसानियत

इंसानियत ।।।।।।।।।।।।। न चढ़ाओ चादर मजार पर खुदा का नाम लेकर, कभी तो सोच अपनी बदलो स्वार्थ से जुदा हो कर। मजार के करीब पड़ा ठिठुर रहा था इंसान , देख न पाया तू...

0

बदलाव आजकल

बदलाव आजकल अरमान और अल्फाज़ बदल जाते हैं , कभी-कभी बेसुध भी गिरकर संभल जाते हैं , चमक सितारों की महफूज़ नहीं रहती , जब बादल अपने घर से निकल जाते हैं । मगरूर...

0

चंदा और चकोर ( Heart Touching Poem in HINDI )

कुछ मजबूरियाँ थी उसकी मजबूर हो रही थी, चंदा से एक चकोर आज दूर हो रही थी। मिलन की प्यारी प्यारी यादें सब समेट ली उसने यादों की चादर इकट्ठा करके समेट ली उसने...

ऐसा वक्त कहाँ से लाऊँ 0

ऐसा वक्त कहाँ से लाऊँ

ऐसा वक्त कहाँ से लाऊँ  – Hindi-Urdu Poetry वेफिकरी की अलसाई सी उजली सुबहें काली रातें हकलाने की तुतलाई सी आधी और अधूरी बातें आंगन में फिर लेट रात को चमकीले से तारे गिनना सुबह...