Category: hindi poem

0

Read Best Hindi Poetry By Salil Saroj :- तुझे चाहिए तो तू मेरा जिस्मों-जान रख

तुझे चाहिए तो तू मेरा जिस्मों-जान रख पर अपनी तबियत में भी थोड़ा ईमान रख तेरा घर क्यों बहुत सूना-सूना लगता है  मेरी मान,घर में कोई बेटी सा भगवान रख कोई ज़ुल्फ़परस्त की दरिन्दगी...

एक रस होने की आस Beautiful Hindi Poem By Ritu Soni 0

एक रस होने की आस Beautiful Hindi Poem By Ritu Soni

एक रस होने की आस वो पूर्ण शक्ति जब बिखर गया, कण-कण में  सिमट गया , तब हुआ इस जग का निर्माण, वो परमपिता सृजनकर्ता जो, नित्य सूर्य बन अपनी किरणो से, नव स्फूर्ति का...

उम्मीदों की कोंपल (कविता) 0

उम्मीदों की कोंपल (कविता)

उम्मीदों की कोंपल मन की पीड़ा , क्यों थाम लेती है अश्को को दामन अंखियो से लगती है झड़ी जैसे सावन की | रिश्तो की बगिया में आ गया मौसम क्यों पतझड़ का ,...

एक छोटी सी मोमबत्ती जब जलती हैं।- दिल छू लेने वाली कविता 0

एक छोटी सी मोमबत्ती जब जलती हैं।- दिल छू लेने वाली कविता

एक छोटी सी मोमबत्ती जब जलती है, तो मानो अंधेरा छट जाता हैं। सारा संसार रोशनमय हो जाता हैं। एक छोटी सी मोमबत्ती जब जलती है, तो राहगीरों को राह दिखाती हैं। भूलें-बिसरें को...