Author: Admin

0

प्रेम तू छिपा है कहाँ – Hindi Ghazal by Manju

प्रेम तू छिपा है कहाँ ऐ साकी कुछ दर्द पिला तभी मजा है पीने में , वरणा इस दुनियाँ में यारों मजा कहाँ है जीने में। कर इनायत प्रेम की अब ये दिल बेजार...

0

इंसानियत

इंसानियत ।।।।।।।।।।।।। न चढ़ाओ चादर मजार पर खुदा का नाम लेकर, कभी तो सोच अपनी बदलो स्वार्थ से जुदा हो कर। मजार के करीब पड़ा ठिठुर रहा था इंसान , देख न पाया तू...

0

शहीदों की शहादत पर SAD Hindi Poem By Manju

कलम ने आज लिखने से इंकार कर दिया। स्याही ने आज अपना रंग लाल कर दिया। चीथड़ों में उड़ गए हमारे देश भक्त यहां, उनके बलिदान ने देश को गुलाम कर दिया। कभी न...

0

सोच बदल देने वाली कहानियाँ । Motivational story in Hindi

आज मैं आपके साथ 2 ऐसी कहानियाँ ( Motivational stories in Hindi ) पेश करने जा रहा हूँ जो आपको चीजों को देखने का और उनके बारे में सोचने का एक अलग नजरिया देगी।...

0

Beautiful words by Osho Hindi

ओशो-  जब मेरी मृत्यु होगी तो आप मेरे रिश्तेदारो से मिलने आएगे और मुझे पता भी नही चलेगा, तो अभी आ जाओ ना मुझ से मिलने। जब मेरी मृत्यु होगी तो आप मेरे सारे...

0

आया बसंत मनभावन- Hindi Poem by कुसुम कोठारी

आया बसंत मनभावन हरि आओ ना। राधा हारी कर पुकार हिय दहलीज पर बैठे हैं, निर्मोही नंद कुमार कालिनी कूल खरी गाये हरि आओ ना। फूल फूल डोलत तितलियां कोयल गाये मधु रागनियां मयूर...

0

वक्त की हवाओं का यारों असर देख लो – Hindi Shayri for You

वक्त की हवाओं का यारों असर देख लो,बिख़रे हुए पत्तों का ये मंज़र देख लो। शौक से छुप जाओ बेवफाई के जंगल में,पहले मेरी आंखों में वफ़ा का खंज़र देख लो। अश्कों से उभर...

0

नये मनुष्य का धर्म- Osho Discourse Hindi

छठवां-प्रवचन-(ओशो) निःशब्द में ठहर जाएं मेरे प्रिय आत्मन्! जैसे कोई मछली पूछे कि सागर कहां है? ऐसे ही यह सवाल है आदमी का कि सत्य कहां है? मछली सागर में पैदा होती है सागर...

0

भारत में चार्टर्ड एकाउंटेंट वेतन – Salary of CA in India

चार्टर्ड अकाउंटेंट भारत में कॉमर्स के छात्रों के लिए सबसे कठिन लेकिन बेहद महत्वपूर्ण कोर्स है। सीए को करियर बनाने के पीछे कई कारण हैं और उनमें से एक है सैलरी (पैकेज)। विभिन्न कारक...

0

मीरा – तुम मुझे बेहद पंसद हो Hindi Poetry

मीरा  तुम मुझे बेहद पंसद हो इसलिये नहीं कि तुम कृष्ण भक्त हो पसंद हो क्यूँकि स्त्री इतिहास में तुम एक सशक्त स्त्री हो महल बना पिंजरा सोने का सांमती युग की थी मनमानी...